आदिल शहरियार और नेताजी के रहस्य का सम्पर्क

आदिल शहरियार के पिता मोहम्मद युनुस खान नेहरु परिवार के करीबी थे और इंदिरा गांधी के निजी  सचिव  थे| संजय गाँधी के शादी के फेरे मोहम्मद युनुस खान के घर हुए थे, इन मोहम्मद युनुस ने एक पुस्तक भी लिखी थी जो भारत में बैन है तथा विदेशों में भी मुश्किल से ही मिलती है, इस पुस्तक में खान ने एक चाबी का जिक्र भी किया था जिसे ढूंढने के लिए इंदिरा गाँधी ने संजय गांधी की लाश छान मारी थी|

जब जापान में भारतीय राजदूत ने नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के INA के खजाने की जांच के लिए लिखा था तब इन्ही मोहम्मद युनुस खान ने जांच करी थी और इंदिरा के इशारे पर करोड़ों के खजाने से कोड़ियां  ही बरामद करी और नेहरु समेत तमाम INA  के खज़ाना चोरों को बचा लिया था|

आदिल शहरियार आतंकी गतिविधियों में लिप्त था इसलिए अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने उसकी 35 साल की सजा बरकरार राखी थी|

Shahryar was tried on five counts: 1. attempting to firebomb a ship; 2. false statements on various certificates in connection with the shipment; 3. mail fraud; 4. making of a firearm (the bombs); and 5. use of a firearm (the bombs) in the commission of a felony.

http://www.rediff.com/news/report/who-is-adil-shahryar-and-why-was-he-part-of-sushmas-reference/20150812.htm

कहा जाता है कि राजीव गाँधी  ने पहले संजय गाँधी के सौतले (यानी बायोलॉजिकल) पिता मोहम्मद युनुस खान की मदद करने से मना कर दिया था तब मोहम्मद युनुस खान ने कहा था कि उनके पास कुछ रिपोर्टें यानी दस्तावेज हैं जो नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का खजाना नेहरु द्वारा लुटने तथा इंदिरा गाँधी द्वारा झूठी जांच एवं कठपुतली जांच आयोग की सच्चाई उजागर कर देंगे|

The Government under Mrs. Gandhi told Khosla Commission that many confidential files of Nehru connected with the reports about Netaji were either missing or destroyed. These files were dealt with by the personal secretary of Pandit Nehru – Mohammad Yunus .

http://netajimystery.blogspot.in/2005/07/did-nehru-betray-netaji-extracts-from.html

इस धमकी के बाद राजीव गाँधी ने अमेरिकी सरकार से बात की तो अमेरिकी सरकार ने भोपाल गैस काण्ड के आरोपी वारेन एंडरसन को छोड़ने के लिए कहा तब जाकर Quid Pro Quo एग्रीमेंट हुआ जिसके तहत एंडरसन के बदले आदिल शहरियार को छोड़ा गया|

#Aadil_Shahriyaar #QuidProQuo

टिपण्णी

Loading Facebook Comments ...
Loading Disqus Comments ...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

 

No Trackbacks.